हाथी की कहानी – Small Elephant Kid Nadu, Short Elephant Story For Kids V1

छोटा सा हाथी का बचा नंदू, बच्चो के लिए छोटीसी कहानी -Small Elephant Kid Nadu, Short Elephant Story For Kids.

नमस्ते दोस्तों, मुझे यकीं है ठीक होंगे और इस परिस्थिति में अपना ध्यान रखना बहोत ही जरुरी है. आज में बच्चो के लिए एक नयी कहानी लेके आया हु जो Small Elephant Kid Nadu, Short Elephant Story For Kids है. आपको यह कहानी पढ़के बहोत ही मजा आएगा और कुछ जानने को मिलेगा। हमारे वेबसाइट में बच्चो के लिए बहोत ही मजेदार जानकारी आपको देखने को मिल जाएगी, निचे मेने एक लिंक दिया है. जहा से आपको नयी कहानिया, निबंध और कविताये मिल जाएगी जो जरूर पढ़े.

Short Stories for Kids- Click Here to Read

नंदू हाथी छोटी हिंदी कहानी – Nandu Short Elephant Story

नंदू एक हाथी का बहोत ही छोटासा बचा है, आज हम इसके बारेमें बात करने वाले है. वह सो रहा था। अचानक वह जाग गया। पता नहीं था की वह कहाँ है? उसने अपने आप को विशाल घने पेड़ों से घिरा हुआ महसूस किया। उसका सिर चकरा गया था। वह बोलै ऊप्स! मा तुम कहा हो। उसकी माँ भी वही थी। नंदू हाथी झुंडों में सबसे छोटा था. दोपहर को वह चिल्लाया और जंगल में घूमने लगा। दूसरे हाथि भी खाने की तलाश में जंगल में जा रहे थे, नंदू ने भी उनका पीछा किया.

भीड़ जंगल में चली गई। सभी हाथी अलग-अलग स्थानों पर गए। विभिन्न पेड़ों के पत्ते और टहनियाँ खाने लगे। फिर सभी नदी के पास गए। बच्चे ने पानी में मस्ती की। नंदू की माँ पानी और कीचड़ में पड़ी थी. सभी बचे बहोत ही मस्ती कर रहे थे क्यों की हाथी को तो पानी बहोत ही पसंद अता है आपको तो यह पता ही होगा.

Small Elephant Kid Nadu, Short Elephant Story For Kids 1
Small Elephant Kid Nadu, Short Elephant Story For Kids

नंदू ने अपने भाइयों और बहनों को एक-दूसरे की पूंछ खींचते देखा। उसने सोचा कि उनके पास न जाना ही मेरे लिए बेहतर होगा। अगर वे मुझ पर गिरते हैं तो क्या होता है? मैं अब भी जवान हूं। ” वह चुपचाप अपनी माँ के पास गया और खड़ा हो गया। माई ने नंदू को धीरे से पानी की ओर धकेला। मानो कहते हैं कि पानी में खेलो। नंदू को पानी में खेलना बहुत पसंद है। उसके चचेरे भाई और दूसरे हाथी के बच्चे पहले से ही वहां थे.

फिर भी वहाँ पहुँचते-पहुँचते एक कठिन पानी का फव्वारा उसके ऊपर गिर गया। यह गीला हो गया। ऊप्स! यह उसके भाइयो का काम था। नंदू भी उनके साथ खेल में शामिल हो गया. सभी हाथी के बचो को पानी में खेलने में बहोत ही मजा आया. सूर्यास्त के बाद, सभी हाथीओ की भीड़ अपने घर की ओर बढ़ने लगी। नंदू को वहाँ आने से बहुत खुशी हुई और वह थका हुआ भी था। उसे अपनी माँ के पास गया और वह उसका दूध पीकर सो गया. और दूसरी दिन उसको फिर पानी में खेलने जाना था.

Some information about elephant – हाथी के बारे में कुछ जानकारी (Short Elephant Story)

क्या आप जानते हैं कि एक वयस्क हाथी एक दिन में 100 किलोग्राम से अधिक पत्ते, टहनियाँ आदि खा सकता है? हाथी ज्यादा आराम नहीं करते। वे दिन में दो से चार घंटे ही सोते हैं। हाथियों को कीचड़ और पानी में खेलना बहुत पसंद है। कीचड़ से उनकी त्वचा ठंडी हो जाती है। उनके बड़े कान पंखो की तरह काम करते हैं। हाथी अपने शरीर को ठंडा रखने के लिए अपने कान हिलाते हैं, जिससे की उनको ठंडी हवा आती रहे.

आपने नंदू और हाथियों के झुंड के बारे में पढ़ा। हाथी के झुंड में आमतौर पर दस से बारह हाथी और शावक होते हैं। सबसे पुराना हाथी झुंड का प्रमुख है। हाथी झुंड में रहता है जब तक वह चौदह या पंद्रह साल का नहीं होता है, तब वह झुंड को छोड़ देता है और अकेले घूमता है। नंदू भी इतना बड़ा होगा कि वह भीड़ को छोड़ देगा। हाथियों की तरह, कई अन्य जानवर समूहों में एक साथ रहते हैं। जानवरों के इस समूह को झुंड कहा जाता है। जानवरों के झुंड भोजन की तलाश में एक साथ घूमते हैं.

Hindi Eng

मुझे यकीं है की आपको Short Elephant Story बहोत ही पसंद आयी होगी। हम यहाँ ऐसी की मजेदार कहानिया बच्चो के लिए post करते रहते है तो आप हमारे इस वेबसाइट को जरूर visit करते रहिये। हम यही कोशिश करते है की आपको नयी नयी जानकारी मिलती रहे और आप अपना भरोसा हमपे बनाये रखे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *